कटहल के 12 फायदे, उपयोग और नुकसान – Jackfruit Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

SHARING IS CARING!
Share on Facebook
Facebook
0Tweet about this on Twitter
Twitter
Pin on Pinterest
Pinterest
0Share on Reddit
Reddit
0

Stylecraze May 15, 2019

कटहल को दुनिया के चुनिंदा सबसे बड़े और भारी फलों में गिना जाता है। यह फल पकने पर बहुत ही मीठा और स्वादिष्ठ लगता है। खासकर, भारत में इस फल से सब्जी, आचार और कई तरह के जायकेदार व्यंजन बनाए जाते हैं। यह फल सिर्फ पेट भरने तक सीमित नहीं है। आपको जानकर हैरानी होगी कि कटहल वजन घटाने से लेकर कैंसर जैसी घातक बीमारियों से बचाव कर सकता है। आइए जानते हैं कि इस खास फल के औषधीय गुण आपके शरीर के लिए किस प्रकार लाभदायक हो सकते हैं। उससे पहले इस फल के विषय में कुछ और खास बातों के बारे में जान लेते हैं।

विषय सूची

क्या है कटहल – What is Jackfrut in Hindi

कटहल एक उष्णकटिबंधीय फल है, जो मुख्य रूप से दक्षिण-पश्चिम भारत से संबंध रखता है। इस फल का वैज्ञानिक नाम आर्टोकार्पस हेटेरोफिल्लस है। कटहल आकार में छोटे और काफी बड़े दोनों प्रकार के हो सकते हैं। इस फल की बाहरी त्वचा नुकीली होती है। इसे शाकाहारियों का मांस कहा जाता है, क्योंकि इसकी सब्जी बनने के बाद बिल्कुल मांस जैसी दिखती है। पकने पर यह फल अंदर से पीला हो जाता है, जिसे लोग बहुत चाव से खाते हैं। आगे जानिए कटहल के शारीरिक फायदों के बारे में।

आइए, अब जान लेते हैं शरीर के लिए कटहल के फायदे।

कटहल के फायदे – Benefits of Jackfruit in Hindi

1. हृदय स्वास्थ्य

Shutterstock

हृदय स्वास्थ्य के लिए कटहल का सेवन किया जा सकता है। वैज्ञानिक शोध बताते हैं कि कटहल में मौजूद विटामिन-सी सूजन को रोक सकता है, जो हृदय रोग जैसी घातक बीमारियों का कारण बन सकता है (1) (2), (3)। इसके अलावा, इस फल में मौजूद पोटैशियम रक्तचाप को नियंत्रित कर दिल के दौरे को रोक सकता है। कटहल में विटामिन-बी होमोसिस्टीन के स्तर को कम कर सकता है। होमोसिस्टीन वो तत्व है, जो हृदय के जोखिम को बढ़ा सकता है (3)। साथ ही इस फल में मौजूद आयरन हृदय को मजबूत रखता है।

2. पाचन स्वास्थ्य

कटहल फाइबर का अच्छा स्रोत है (2), जो पाचन स्वास्थ्य में मुख्य भूमिका निभाता है। फाइबर आंतों की कोशिकाओं को स्वस्थ रखने का काम करता है। फाइबर डाइजेस्टिक ट्रैक में सुधार कर पाचन क्रिया को बढ़ावा देता है। फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ पेट संबंधी समस्याओं जैसे कब्ज, डायरिया व गैस आदि को ठीक करते हैं (4)।

3. वजन घटाने में लाभदायक 

मोटापा दुनिया भर में प्रमुख स्वास्थ्य खतरे के रूप में उभरा है। शरीर में अत्यधिक फैट का जमाव मोटापे को परिभाषित करता है। मोटापा कई मामलों में हानिकारक हो सकता है, क्योंकि यह हृदय संबंधी बीमारियों, मधुमेह व कैंसर आदि का कारण बन सकता है। कटहल विटामिन-सी से समृद्ध होता है, इसलिए यह मोटापे को कम करने में मदद कर सकता है (2) (5)।

कटहल में मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी गुण मोटापे को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। कटहल रेसवेरेट्रॉल नामक एंटीऑक्सीडेंट का अच्छा स्रोत है, जो वजन, बीएमआई और फैट मास को कम करने में मदद कर सकता है (6), (7)।

4. हड्डी स्वास्थ्य

हड्डियों की मजबूती के लिए कटहल के गुण बेहद अहम हैं। कटहल में कैल्शियम पाया जाता है, जो हड्डियों की मजबूती और विकास के लिए जरूर तत्व है। शरीर कैल्शियम नहीं बनाता है, इसलिए इसकी पूर्ति कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थों द्वारा की जाती है। स्वस्थ हड्डियों के लिए आप कटहल को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं (2), (8)।

5. कैंसर

Shutterstock

कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचने के लिए भी कटहल का सेवन किया जा सकता है। कटहल लिग्नांस, आइसोफ्लेवोंस और सैपोनिन जैसे फाइटोन्यूट्रिएंट्स से समृद्ध होता है, जो कैंसर से लड़ने का काम करते हैं (9)।

कटहल में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण मुक्त कणों (Free Radical) को बेअसर करते हैं और कैंसर को भी रोकते हैं। कटहल विटामिन-सी का भी अच्छा स्रोत है और विटामिन-सी कैंसर को रोकने में एक अहम भूमिका निभा सकता है (5)। एक अध्ययन में गर्भाशय के कैंसर से लड़ने में कटहल के महत्व को देखा गया है। इसके अलावा, कटहल में मौजूद डायटरी फाइबर पेट और इसोफेजियल कैंसर को रोक सकता है (10)।

6. रोग प्रतिरोधक क्षमता

शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए कटहल के फायदे बहुत हैं। कटहल में विटामिन-सी होता है, जो शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने का काम करता है। विटामिन-सी कारगर एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य कर इम्यून सिस्टम को स्वस्थ रखता है और शरीर को रोगों से दूर रखने में मदद करता है (11), (12)।

7. आंखों कि लिए

Shutterstock

कटहल विटामिन-ए और सी से भरपूर होता है और ये दोनों ही पोषक तत्व आंखों के लिए फायदेमंद माने जाते हैं। एक अध्ययन में वैज्ञानिकों ने पाया कि विटामिन-सी की पर्याप्त मात्रा लेने से उम्र से संबंधित नेत्र रोग के जोखिम को कम किया जा सकता है (13)।

एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार विटामिन-सी मोतियाबिंद के खतरे को भी कम कर सकता है। स्वस्थ आंखों के लिए आप अपने आहार में कहटल को शामिल कर सकते हैं (2), (14)।

8. एनीमिया

एनीमिया जैसी बीमारी के लिए भी कटहल के फायदे देख जा सकते हैं। एनीमिया एक चिकित्सकीय स्थिति है, जो रक्त में लाल कोशिकाओं की कमी के कारण होती है। एनीमिया के रोकथाम के लिए कटहल का सेवन किया जा सकता है, क्योंकि यह आयरन का अच्छा स्रोत है और आयरन लाल रक्त कोशिकाओं के विकास में मदद करता है। एनीमिया होने का सबसे मुख्य कारण शरीर में आयरन की कमी होना ही है (15)।

इसके अलावा, कटहल में विटामिन-बी6 की भी अधिकता होती है। यह पोषक तत्व भी लाल रक्त कोशिकाओं के विकास को बढ़ावा देने का काम करता है (2)।

9. रक्तचाप

शरीर में रक्त संचालन के लिए भी कटहल के फायदे देखे गए हैं। कटहल पोटैशियम और सोडियम से समृद्ध होता है, जिस कारण यह रक्तचाप के लिए फायदेमंद हो सकता है।  यह रक्त वाहिकाओं को आराम पहुंचाने और उचित रक्तचाप बनाए रखने में मदद करता है।

एक रिपोर्ट के अनुसार पोटैशियम को उच्च रक्तचाप की रोकथाम और उपचार के लिए शामिल किया जाना चाहिए। खासकर उन लोगों को इसका सेवन जरूर करना चाहिए, जो सोडियम के सेवन को कम करने में असमर्थ हैं (2), (16)।

10. मधुमेह

Shutterstock

मधुमेह की रोकथाम के लिए भी कटहल के गुण देख सकते हैं। कटहल विटामिन-बी से समृद्ध होता है, जो मधुमेह रोगियों के लिए इंसुलिन में सुधार कर सकता है। एक अध्ययन के अनुसार कच्चा कटहल प्रीडायबिटीज के लक्षणों को उलटने का काम कर सकता है। मधुमेह के लिए कटहल के औषधीय गुणों का उल्लेख भारतीय चिकित्सा पद्धति में भी किया गया है (17)।

11. थायराइड 

थायराइड की स्थिति में कटहल अहम भूमिका निभा सकता है। कटहल कॉपर का एक अच्छा स्रोत है, जो थायराइड मेटाबॉलिज्म को बनाने में मदद करता है (18)। इसके अलावा, कॉपर थायराइड विकारों के लिए भी फायदेमंद हो सकता है।

एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार हाइपोथायरायडिज्म के मरीजों के लिए विटामिन-सी महत्वपूर्ण तत्व हो सकता है। हाइपोथायरायडिज्म ऐसी चिकित्सकीय स्थिति है, जिसमें थायरायड ग्रंथि पर्याप्त थायराइड हार्मोन का उत्पादन नहीं करती है (19)।

12. त्वचा स्वास्थ्य के लिए

त्वचा के लिए भी कटहल के फायदे बहुत हैं। कटहल विटामिन-सी से समृद्ध होता है, जो त्वचा को नुकसान पहुंचाने वाले मुक्त कणों से लड़ने का काम करता है। वहीं, विटामिन-बी त्वचा कोशिकाओं के पुनर्निर्माण में मदद करता है।

विटामिन-सी के एंटीऑक्सीडेंट गुण और कोलेजन के गठन की क्षमता इसे त्वचा के लिए खास पोषक तत्व बनाती है। कुछ अध्ययनों के अनुसार, विटामिन-सी सूर्य की हानिकारक पैराबैंगनी किरणों से त्वचा को बचाने का काम करता है (20)।

कटहल त्वचा को हाइड्रेट कर शुष्कता को कम करने का काम भी कर सकता है। कटहल फाइबर का भी अच्छा स्रोत है, जो शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है। त्वचा के स्वास्थ्य को बरकरार रखने के लिए आप अपने आहार में कटहल को स्थान दे सकते हैं (2)।

कटहल के फायदे जानने के बाद आगे जानिए कटहल में कौन-कौन से पोषक तत्व मौजूद होते हैं।

कटहल के पौष्टिक तत्व – Jackfruit Nutritional Value in Hindi

पोषक तत्व मात्रा ( प्रति 100 ग्राम)
पानी (ग्राम) 73.46
ऊर्जा (kcal) 95
प्रोटीन  (ग्राम) 1.72
कुल फैट  (ग्राम) 0.64
कार्बोहाइड्रेट (ग्राम) 23.25
फाइबर, कुल डायटरी (ग्राम) 1.5
शुगर (ग्राम) 19.08
मिनरल्स
कैल्शियम (मिलीग्राम) 24
आयरन  (मिलीग्राम) 0.23
मैग्नीशियम (मिलीग्राम) 29
फास्फोरस (मिलीग्राम) 21
पोटैशियम (मिलीग्राम) 448
सोडियम (मिलीग्राम) 2
जिंक  (मिलीग्राम) 0.13
विटामिन्स
विटामिन सी, कुल एस्कॉर्बिक एसिड (मिलीग्राम) 13.7
थायमिन (मिलीग्राम) 0.105
राइबोफ्लेविन (मिलीग्राम) 0.055
नियासिन (मिलीग्राम) 0.920
विटामिन बी-6 (मिलीग्राम) 0.329
फोलेट, डीएफई  (µg) 24
विटामिन बी-12 (µg) 0.00
विटामिन ए, आरएई (µg) 5
विटामिन ए, (IU) 110
विटामिन ई (अल्फा-टोकोफ़ेरॉल) (मिलीग्राम) 0.34
लिपिड
फैटी एसिड, कुल सैचुरेटेड (ग्राम) 0.195
फैटी एसिड, कुल मोनोअनसैचुरेटेड (ग्राम) 0.155
फैटी एसिड, कुल पॉलीअनसैचुरेटेड (ग्राम) 0.94
फैटी एसिड, कुल ट्रांस (ग्राम) 0.000
कोलेस्ट्रॉल (मिलीग्राम) 0

कटहल का उपयोग – How to Use Jackfruit in Hindi

कटहल एक खास फल है, जिसका सेवन कई तरीकों से किया जा सकता है। नीचे जानिए, कटहल कैसे खाते हैं?

  • कटहल पक जाने पर अंदर से पीला हो जाता है, जिसे आप आराम से ऐसे ही खा सकते हैं।
  • आप कच्चे कटहल की सब्जी बना सकते हैं। कच्चे कटहल को काटने से पहले अपने दोनों हाथों पर सरसों का तेल लगा लें, क्योंकि कच्चे फल का दूध आपके हाथों पर लग सकता है, जो बहुत मुश्किल से हटता है। इसके अलावा, आप कच्चे कटहल को काटने के लिए हैंड ग्लब्स का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। फल को काटने के लिए धारदार चाकू का इस्तेमाल करें और सावधानीपूर्वक काटें।
  • आप कटहल का अचार भी बना सकते हैं, जिस प्रकार आप आम, गाजर व मूली आदि का बनाते हैं।
  • इसके अलावा, आप कटहल के गूदे के चिप्स भी बना सकते हैं। दक्षिण भारत में कई जगह जैकफ्रूट्स चिप्स बहुत प्रचलित हैं।

कटहल के नुकसान – Side Effects of Jackfruit in Hindi 

इसमें कोई दो राय नहीं कि कटहल एक गुणकारी फल है, लेकिन इसकी अत्यधिक मात्रा शरीर के लिए नुकसानदायक हो सकती है। नीचे जानिए कटहल के कुछ दुष्प्रभाव –

  • मधुमेह की आशंका हो सकती है।
  • एलर्जी (21)
  • डायरिया (22)

दोस्तों, अब तो आप कटहल के औषधीय गुणों के बारे में जान गए होंगे। अगर आप लेख में बताई गई किसी भी बीमारी या समस्या से पीड़ित हैं, तो कटहल को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं। हो सकता है कि इसके नियमित सेवन के दौरान इसके कुछ दुष्प्रभाव सामने आएं, ऐसी स्थिति में आप इसका सेवन बंद करें और तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। यह लेख आपको कैसा लगा, इस बारे में नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में हमें जरूर बताएं।

share-on-pinterest

संबंधित आलेख

Source: https://www.stylecraze.com/hindi/kathal-ke-fayde-upyog-aur-nuksan-in-hindi/

SHARING IS CARING!
Share on Facebook
Facebook
0Tweet about this on Twitter
Twitter
Pin on Pinterest
Pinterest
0Share on Reddit
Reddit
0
« »