फूल गोभी के 15 फायदे, उपयोग और नुकसान – Cauliflower (Phool Gobhi) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

SHARING IS CARING!
Share on Facebook
Facebook
0Tweet about this on Twitter
Twitter
Pin on Pinterest
Pinterest
0Share on Reddit
Reddit
0

Stylecraze Hyderabd040-395603080 August 14, 2019

दुनिया भर में अपने स्वाद के लिए मशहूर फूल गोभी (Phool Gobhi) का उपयोग सब्जी बनाने से लेकर, पराठे और पकौड़े बनाने तक में होता है। इसके अलावा भी कई ऐसे व्यंजन हैं, जिनमें फूल गोभी का स्थान खास होता है। क्या आप जानते हैं कि भोजन की शान बढ़ाने वाली फूल गोभी खास गुणों से भरपूर है। यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है। आपको बता दें कि स्वाद और स्वास्थ्य के क्षेत्र में फूल गोभी के फायदे बेहद खास हैं। स्टाइलक्रेज के इस आर्टिकल में हम आम दिखने वाली फूल गोभी के फायदे, उपयोग और फूलगोभी के नुकसान के बारे में ही बात करेंगे।

विषय सूची

सबसे पहले जानते हैं सेहत के लिए फूल गोभी खाने के फायदे।

फूल गोभी आपके सेहत के लिए क्यों अच्छी है?

फूल गोभी में पाए जाने वाले पोषक तत्व हमारे लिए बेहद ही फायदेमंद हैं। इसमें तमाम तरह के विटामिन्स, मैग्नीशिय व पोटैशियम पाए जाते हैं, जो न सिर्फ हमारे दिल व दिमाग को ठीक रखते हैं, बल्कि कैंसर जैसी घातक बीमारी से भी हमारी सुरक्षा करते हैं। इतना ही नहीं इसके फायदे बालों और त्वचा के लिए भी भरपूर हैं (1)।

आइए, अब जानते हैं स्वास्थ के क्षेत्र में फूलगोभी के फायदे

फूल गोभी के फायदे – Benefits of Cauliflower (Phool Gobhi) in Hindi 

जैसा कि आप जान ही चुके हैं कि फूलगोभी विटामिन और मिनरल्स से समृद्ध है। यहां हम विस्तार से बता रहे हैं कि फूलगोभी किस-किस प्रकार से हमारे लिए लाभकारी है।

1. ह्रदय को स्वास्थ्य रखने में कारगर

Shutterstock

फूल गोभी के अंदर सल्फोराफेन की प्रचुर मात्रा होती है (2)। शोध से पता चलता है कि सल्फोराफेन उच्च रक्तचाप को कम करने और धमनियों को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है  और ये दोनों ही ह्रदय रोग को रोकने में प्रमुख कारक हैं (3)।

2. कैंसर की रोकथाम में सहायक

कुछ शोध के अनुसार, सल्फोराफेन में कैंसर की आशंका को पनपने से रोकने की क्षमता होती है (3)। इसलिए, फूल गोभी के अंदर मौजूद सल्फोराफेन कोलन और प्रोस्टेट कैंसर के साथ ही कई अन्य कैंसर के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करा सकता है (4)।

3. हड्डियों को करे मजबूत

Shutterstock

फूल गोभी में एंटीऑक्सीडेंट के साथ-साथ कैल्शियम की मात्रा भी पाई जाती है, जो दांतों और हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। इसके अलावा, फूल गोभी में पाया जाने वाला विटामिन-के हड्डियों को मजबूती प्रदान करने के साथ-साथ हड्डियों के रोगों की रोकथाम और उपचार दोनों में ही उपयोगी हो सकता है (5)।

4. वजन कम करने में कारगर

फूल गोभी वजन घटाने में भी मदद कर सकता है। इसमें कैलोरी की मात्रा कम होती है। इसलिए, वजन बढ़ने की चिंता किए बिना आप इसका सेवन कर सकते हैं। फूलगोभी में कुछ मात्रा फाइबर की भी होती है (6), (7)। फाइबर पेट को भरने में मदद करता है, जिस कारण भूख कम लगती है। साथ ही शरीर को पर्याप्त ऊर्जा भी मिलती है। साथ ही यह कैलोरी की संख्या को कम कर सकता है, जो वजन नियंत्रण में एक महत्वपूर्ण कारक है (8)।  इसलिए, फूल गोभी के फायदे में वजन को कम करना भी शामिल है।

5. सूजन को कम करने में सहायक

फूल गोभी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट गुण सूजन को कम करने और कई पुरानी बीमारियों से बचाने में फायदेमंद होते हैं (7)। एंटीऑक्सीडेंट शरीर में फ्री रेडिकल्स को बनने से रोकता है। साथ ही ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस से बचाता है। यहां आपको बता दें कि फ्री रेडिकल्स और ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस के कारण आपको सूजन व अन्य बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है (9), लेकिन फूलगोभी के सेवन से बचा जा सकता है।

6. ब्रेन फंक्शन को बूस्ट करता है

वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, फूलगोभी में कोलिन की मात्रा पाई जाती है, जो एक प्रकार का विटामिन-बी होता है (10)। आंकड़ों की बात करें, तो 100 ग्राम फूलगोभी में कोलिन की मात्रा 127 मिली ग्राम होती है (11)। मस्तिष्क के विकास में कोलिन का विशेष योगदान होता है। कोलिन याददाश्त, मनोदशा, मांसपेशियों पर नियंत्रण, मस्तिष्क के विकास और न्यूरोट्रांसमीटर के उत्पादन में मदद करता है, जो स्वस्थ मस्तिष्क के लिए जरूरी हैं (12)।

7. कोलेस्ट्रॉल को करे नियंत्रित

जैसा कि आप जान ही चुके हैं कि फूलगोभी में कोलिन पाया जाता है, जो लिवर में कोलेस्ट्रॉल को जमा होने से रोकने में मदद करता है (13)। फूलगोभी में पाया जाने वाला फाइबर भी स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है (6)। घुलनशील फाइबर कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम कर सकता है। एक दिन में 5 से 10 ग्राम या उससे अधिक घुलनशील फाइबर आपके एलडीएल कोलेस्ट्रॉल यानी खराब कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकता है (14)।

8. पाचन-तंत्र होता है मजबूत

Shutterstock

फूलगोभी खाने के फायदे में यह भी हैं कि इसके सेवन से पाचन-तंत्र मजबूत होता है, क्योंकि इसमें फाइबर की उच्च मात्रा पाई जाती है (6)। एक शोध के अनुसार फाइबर कब्ज, बवासीर, पेट के कैंसर, गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स रोग, अल्सर, मोटापा आदि कई रोगों के खिलाफ सुरक्षात्मक प्रभाव के लिए जाना जाता है, जो पाचन तंत्र के लिए बहुत फायदेमंद है (15)।

9. लिवर और किडनी के लिए जरूरी

शरीर में कोलिन की कमी होने से लीवर और मांसपेशियों को नुकसान पहुंच सकता है। साथ ही ह्रदय रोग की समस्या भी हो सकती है। वहीं, फूल गोभी में मौजूद कोलिन इस कमी को पूरा करता है (11)। अगर इसे उचित मात्रा में लिया जाए, तो यह लिवर व किडनी को संक्रमण आदि समस्याओं से दूर कर मजबूत बना सकता है (16)। हालांकि, कुछ स्रोत गुर्दे की पथरी या गुर्दे की बीमारी के मामले में फूलगोभी से बचने के लिए कहते हैं, क्योंकि इसमें यूरिक एसिड ज्यादा होता है (17)। इसलिए, बेहतर यही होगा कि आप इस विषय में पहले अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

10. आंखों के लिए फूल गोभी के फायदे

Shutterstock

आंखों की रक्त वाहिकाओं के लिए विटामिन-सी अच्छा होता है। वैज्ञानिक शोध के अनुसार, यह मोतियाबिंद होने के जोखिम को कम कर सकता है। 100 ग्राम फूल गोभी में इसकी मात्रा 48.2 मिलीग्राम होती है (18)। विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है, जो बढ़ती उम्र के साथ आंखों को होने वाले नुकसान से बचाता है (19)।

11. रक्त प्रवाह बढ़ाने में असरकारक फूल गोभी

फूल गोभी में पाया जाने वाला नाइट्रेट शरीर में रक्त संचार को बेहतर करता है (20) (21)। इसलिए, फूलगोभी का नियमित सेवन रक्त संचार में सुधार कर सकता है और रक्त वाहिकाओं को स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकता है।

12. हार्मोन को संतुलित करे फूल गोभी

फूल गोभी जैसे फाइटोएस्ट्रोजन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करने से हार्मोन संतुलित हो सकते हैं। इससे असंतुलित हार्मोन के कारण होने वाली बीमारियों से बचा जा सकता है (22)।

13. विषाक्त पदार्थों को करे दूर

फूल गोभी में इंडोल-3 कार्बिनोल होता है, जो एक प्रकार का फाइटोन्यूट्रिएंट है। इससे लिवर को डिटॉक्स करने और विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में मदद मिलती है (23)।

14. डायबिटीज

Shutterstock

अगर आपको टाइप 2 डायबिटीज है, तो इस अवस्था में गैर-स्टार्च वाली सब्जियों का चुनाव करना बेहतर होता है (24)। इस मामले में आप फूल गोभी पर भरोसा कर सकते हैं। यह स्टार्च से रहित सब्जी है (25)। अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए प्रतिदिन स्टार्च रहित सब्जियां खाने की सलाह देता है।

15. त्वचा और बालों के लिए फूल गोभी के फायदे

फूल गोभी में मौजूद विटामिन सी कोलेजन के उत्पादन में सुधार करता है (26)। साथ ही चेहरे पर झुर्रियों के प्रभाव को कम करता है। वहीं, इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण त्वचा पर होने वाले हानिकारक प्रभाव को दूर कर त्वचा को स्वस्थ बनाने में सहायता कर सकता है (27)। विटामिन सी बालों को मजबूत करने में भी सहायक हो सकता है  (28)।

 इतना सब जानने के बाद आइए जानते हैं, फूल गोभी में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्वों के बारे में।

फूल गोभी के पौष्टिक तत्व – Cauliflower Nutritional Value in Hindi

यहां हम टेबल के जरिए बता रहे हैं कि फूलगोभी में कौन-कौने से पोषक तत्व पाए जाते हैं और उनकी मात्रा कितनी होती है (18)।

फूल गोभी के पोषक तत्व
पोषक तत्व मात्रा प्रति 100 ग्राम
ऊर्जा 25 कैलोरी
कार्बोहाइड्रेट 4.97 ग्राम
वसा 0.28 ग्राम
प्रोटीन 1.92 ग्राम
कोलेस्ट्रॉल 0 मिलीग्राम
फाइबर 2.0 ग्राम
विटामिन
फ्लोट 57µg
नियासिन 0.507 मिलीग्राम
पैंटोथेनिक एसिड 0.667 मिलीग्राम
पाइरिडोक्सिन 0.184 मिलीग्राम
राइबोफ्लेविन 0.060 मिलीग्राम
थियामिन 0.050 मिलीग्राम
विटामिन सी 48.2 मिलीग्राम
विटामिन ए 0 आईयू
विटामिन ई 0.08 मिलीग्राम
विटामिन के 15.5 µg
इलेक्ट्रोलाइट्स
सोडियम 30 मिलीग्राम
पोटैशियम 299 मिलीग्राम
 मिनरल्स
कैल्शियम 22 मिलीग्राम
कॉपर 0.039 मिलीग्राम
आयरन 0.42 मिलीग्राम
मैग्नीशियम 15 मिलीग्राम
मैंगनीज 0.155 मिलीग्राम
जिंक 0.27 मिलीग्राम
कैरोटीन-ß 0µg
ल्यूटिन-जेक्सैंथिन 1µg

आइए जानते हैं फूल गोभी के फायदे के लिए इसका उपयोग कब, कैसे और कितनी मात्रा में करना चाहिए।

फूल गोभी का उपयोग – How to Use Cauliflower (Phool Gobhi) in Hindi

फूल गोभी का उपयोग मुख्य रूप से सब्जी बनाने में किया जाता है, लेकिन आप निम्न तरीकों से भी इसे अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं :

  • आप इसे शिमला मिर्च, किशमिश, सफेद सिरका आदि के साथ मिक्स करके सलाद बना सकते हैं।
  • आप फूल गोभी को मैरीनेट करने के बाद ग्रिल करके भी सेवन कर सकते हैं।
  • फूल गोभी में क्रीम और चीज़ को मिक्स करने से एक नई डिश बन सकती है। जो न सिर्फ स्वादिष्ट होगी, बल्कि पौष्टिक भी होगी।
  • आप गोभी के पराठे भी बना सकते हैं, जो खासकर सर्दियों में हर किसी पसंद होते हैं।
  • शलजम व गाजर के साथ मिलाकर फूल गोभी का आचार भी डाला जा सकता है। इसे भोजन के साथ लेने से खाने का स्वाद कई गुना बढ़ जाता है।
  • फूल गोभी से बना सूप भी स्वादिष्ट और सेहतमंद होता है।

वैसे तो फूल गोभी के फायदे बहुत हैं, लेकिन फूल गोभी के नुकसान और कुछ दुष्‍प्रभाव भी देखने को मिलते हैं। आइए, इस बारे में जानते हैं।

फूल गोभी के नुकसान – Side Effects of Cauliflower in Hindi

फूलगोभी के सेवन के कुछ नकारात्मक प्रभाव हो सकते हैं, खासकर अगर इसे अधिक मात्रा में खाया जाए।

किडनी स्टोन का कारण: इसमें यूरिक एसिड की मात्रा ज्यादा होती है। अगर आप इसे अधिक मात्रा में खाते हैं, तो किडनी में पथरी बनने की आशंका हो सकती है (17)।

गैस की समस्या: फूल गोभी में कार्ब्स होते हैं, जो आसानी से नहीं टूटते। इसलिए, फूल गोभी के अत्यधिक सेवन से गैस की समस्या हो सकती है (29)।

रक्त के थक्के का डर: विटामिन-के रक्त के थक्के को जमाता है और फूल गोभी में विटामिन-के पर्याप्त मात्रा होता है  (18)। इसलिए, जो खून को गाढ़ा करने की दवा खा रहे हों, उन्हें डॉक्टर की सलाह पर ही फूल गोभी का सेवन करना चाहिए।

स्तनपान कराने वाली मां के लिए हानिकारक: जो महिलाएं अपने शिशु को स्तनपान करवा रही हैं, उन्हें फूल गोभी जैसे गैस बनाने वाले खाद्य पदार्थों से दूर रहना चाहिए (30)।

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने फूलगोभी से जुड़ी कई अहम जानकारियां आप तक पहुंचाने का प्रयास किया है। इससे आप इतना तो समझ गए होंगे कि स्वास्थ्य के लिहाज से फूल गोभी फायदेमंद है। यह स्वादिष्ट है और इसे डाइट में आसानी से शामिल किया जा सकता है। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा, हमें जरूर बताएं। साथ ही अपने अनुभव और सुझाव नीचे दिए कमेंट बॉक्स के जरिए हमारे साथ जरूर साझा करें।

share-on-pinterest

संबंधित आलेख

Source: https://www.stylecraze.com/hindi/phool-gobhi-ke-fayde-upyog-aur-nuksan-in-hindi/

SHARING IS CARING!
Share on Facebook
Facebook
0Tweet about this on Twitter
Twitter
Pin on Pinterest
Pinterest
0Share on Reddit
Reddit
0
« »